सॉफ्टवेयर संस्करण के सफलता और उत्पाद विकास को ध्यान में रखते हुए, एआईसीटीई, परसिस्टेंट सिस्टम्स, आई4सी और आईआईटी खडगपुर के सहयोग से मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा, राष्ट्रीय स्तर पर, स्मार्ट इंडिया हैकेथॉन – 2018 के पहले हार्डवेयर संस्करण के फाइनल का जून 18 से 22, 2018 के दौरान आयोजन किया जा रहा है।

एसआईएच-2018 का फाइनल पांच दिनों तक चलेगा और इसका देश के इन 10 प्रतिष्ठित संस्थानों में आयोजन होगा…

ये संस्थान हैं – आईआईटी कानपुर (थीम – ड्रोन), आईआईटी खड़गपुर (थीम – कृषि), आईआईटी गुवाहाटी (थीम – ग्रामीण प्रौद्योगिकी), सीईईआरआई पिलानी (थीम – स्मार्ट कम्युनिकेशन), सीएसआईओ चंडीगढ़ (थीम – स्वास्थ्य देखभाल), आईआईएससी बेंगलुरु (थीम – स्मार्ट वाहन), आईआईटी रुड़की (थीम – स्वच्छ पानी), एनआईटी त्रिची (थीम – कचरा प्रबंधन), सीओईपी पुणे (थीम – सुरक्षा), और फोर्ज कोयंबटूर (थीम – आयात विकल्प)।

द्विस्तरीय आंतरिक मूल्यांकन के पश्चात एसआईएच-2018 के 10 थीमों के तहत 106 टीमों का चयन किया गया है।

फाइनल के दौरान उद्योग जगत के विशेषज्ञों तथा एंजल निवेशकों के द्वारा अंतिम निर्णय लिया जाएगा। प्रत्येक थीम की सर्वश्रेष्ठ तीन टीमों को क्रमशः 1,00,000 रुपये, 75,000 रुपये तथा 50,000 रुपये का नकद पुरस्कार दिया जाएगा। साथ ही उन्हें निवेशकों का भी सहयोग प्राप्त होगा।

स्मार्ट इंडिया हैकेथॉन 2018 प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के मेक इन इंडिया पहल के अनुरूप है। यह कार्यक्रम नए विचारों को सामने लाने तथा इन्हें उत्पाद और व्यवसाय के रूप में बदलने में प्रमुख भूमिका निभा रहा है। इसके माध्यम से देश के प्रौद्योगिकी क्षेत्र के प्रतिभाशाली छात्रों को अपने नवोन्मेषी विचारों को उत्पाद में बदलने का अवसर मिलेगा साथ ही, उनके स्टार्टअप प्रोग्राम को भी दिशा मिलेगा।


Source

PIB

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here