एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) और नैशनल इलेक्शन वॉच की एक रिपोर्ट के मुताबिक,भारत के करीब 35% मुख्यमंत्रियों पर आपराधिक मामले दर्ज हैं और 81% मुख्यमंत्री करोड़पति हैं। इसमें से 26% के खिलाफ हत्या, हत्या की कोशिश, धोखाधड़ी जैसे गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं। देश के 11 मुख्यमंत्रियों पर आपराधिक मामले दर्ज हैं जबकि 25 मुख्यमंत्री करोड़पति हैं। बतौर रिपोर्ट, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के खिलाफ सबसे अधिक 22 मामले दर्ज हैं, जबकि आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ₹177 करोड़ की संपत्ति के साथ सबसे अमीर मुख्यमंत्री हैं। मुख्यमंत्रियों की औसत संपत्ति ₹16.18 करोड़ है। सबसे कम संपत्ति वाले मुख्यमंत्री त्रिपुरा के मणिक सरकार हैं और उनकी संपत्ति ₹27 लाख है।

यहां टैप कर देखें पूरी रिपोर्ट….

नायडू के बाद दूसरे स्थान पर अरुणाचल प्रदेश के सीएम पेमा खांडू हैं जिनकी कुल संपत्ति ₹129.57 करोड़ की है। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ₹48.31 करोड़ की संपत्ति के साथ तीसरे सबसे अमीर सीएम हैं। ₹15.5 करोड़ की संपत्ति के साथ तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर राव चौथे और ₹14.50 करोड़ की संपत्ति के साथ मेघालय के सीएम मुकुल संगमा पांचवे सबसे अमीर मुख्यमंत्री हैं।

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) और नैशनल इलेक्शन वॉच की एक रिपोर्ट के मुताबिक, सिक्किम के मुख्यमंत्री पी.के. चामलिंग देश के एकमात्र मुख्यमंत्री हैं जिनके पास पीएचडी की डिग्री है। एडीआर के मुताबिक, 3 मुख्यमंत्री 12वीं पास जबकि 12 ग्रेजुएट हैं। वहीं, 5 मुख्यमंत्रियों के पास पोस्ट ग्रेजुएट और 10 के पास प्रोफेशनल ग्रेजुएट की डिग्री है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here