उत्तर प्रदेश के हमीरपुर अवैध खनन घोटाले के मामले में शनिवार को सीबीआई ने लखनऊ में कई जगहों के अलावा चर्चित आईएएस अधिकारी बी.चंद्रकला के लखनऊ आवास पर भी छापेमारी की है। गौरतलब है कि चंद्रकला हमीरपुर और बुलंदशहर की डीएम रह चुकी हैं और उन पर डीएम रहते हुए अवैध खनन कराने का आरोप है। सीबीआइ ने खनन घोटाले के मामले में लखनऊ, कानपुर, हमीरपुर, जालौन, नोएडा और दिल्ली में 12 पर छापा मारा है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, सीबीआई ने इस छापेमारी के दौरान कई महत्वपूर्ण दस्तावेज अपने कब्जे में ले लिए हैं। आरोप है कि चंद्रकला ने जुलाई 2012 के बाद हमीरपुर में 50 मौरंग के खनन के पट्टे किए थे जबकि ई-टेंडर के जरिए मौरंग के पट्टों पर स्वीकृति देने का प्रावधान था लेकिन उन्होंने सारे प्रावधानों की अनदेखी की थी।

दरअसल, यह अवध खनन घोटाला पूर्ववर्ती अखिलेश यादव की सरकार के दौरान हुआ था और इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने इस मामले की जांच के आदेश दिए थे। वर्ष 2015 में अवैध रूप से जारी मौरंग खनन को लेकर हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की गई थी और हाईकोर्ट ने 16 अक्टूबर 2015 को हमीरपुर में जारी किए गए सभी 60 मौरंग खनन के पट्टे अवैध घोषित करते हुए रद्द कर दिए थे। वहीं, याचिकाकर्ता के मुताबिक मौरंग खदानों पर पूरी तरह से रोक लगाने के बाद भी जिले में अवैध खनन खुलेआम किया गया। 28 जुलाई 2016 को तमाम शिकायतें व याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने अवैध खनन की जांच सीबीआई को सौंप दी थी।

बी. चंद्रकला तेलंगाना के करीबमनगर की रहने वाली हैं और वो 2008 बैच की यूपी कैडर की आईएएस अधिकारी हैं। देश की धाकड़ महिला आईएएस अधिकारी के तौर पर जानी जाने वाली बी. चंद्रकला हमेशा सोशल मीडिया पर छाई रहती हैं। उनके फेसबुक पेज पर 85 लाख से ज्यादा लाइक्स हैं। वर्ष 2014 में उनका एक वीडियो भी वायरल हुआ था, जब वो बुलंदशहर की डीएम थीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here