तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री एम. करुणानिधि का 94 वर्ष की उम्र में मंगलवार को चेन्नई के कावेरी अस्पताल में निधन हो गया। गौरतलब है कि लंबे समय से बीमार चल रहे करुणानिधि ब्लड प्रेशर लो होने और पेशाब की नली में संक्रमण की शिकायत के बाद पिछले कई दिनों से अस्पताल में भर्ती थे। मद्रास हाईकोर्ट ने दिवंगत डीएमके प्रमुख एम. करुणानिधि के लिए मरीना बीच (चेन्नई) स्थित अन्ना मेमोरियल में ही समाधि स्थल बनाने की मंज़ूरी दे दी है। इस पर विरोध जताने वाली तमिलनाडु सरकार की याचिका को कोर्ट ने खारिज कर दिया। गौरतलब है, अन्ना मेमोरियल करुणानिधि के मार्गदर्शक व पूर्व मुख्यमंत्री सी.एन. अन्नादुराई की याद में बनाया गया था।

द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (डीएमके) के 49 सालों तक प्रमुख रहे एम. करुणानिधि अपने जीवन में एक बार भी चुनाव नहीं हारे थे। 1957 में पहली बार विधायक बने करुणानिधि ने 13 बार विधानसभा चुनावों में जीत दर्ज की थी। इसके अलावा, 1969 में पहली बार तमिलनाडु के मुख्यमंत्री बने करुणानिधि ने 5 बार राज्य की कमान संभाली। एम. करुणानिधि 14 वर्ष की उम्र में राजनीति के क्षेत्र में आए थे और 20 की उम्र में स्क्रीनराइटर के तौर पर अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की थी। गौरतलब है कि करुणानिधि ने ‘राजकुमारी’ और ‘मंथिरि कुमारी’ सहित करीब 40 फिल्मों के लिए अलग-अलग भूमिकाओं में काम किया था।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री एम. करुणानिधि के निधन पर शोक जताया है। राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि करुणानिधि एक सुदृढ़ विरासत छोड़ कर जा रहे हैं जिसकी बराबरी सार्वजनिक जीवन में कम मिलती है। वहीं, प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत खासकर तमिलनाडु उन्हें बहुत याद करेगा।

तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री एम. करुणानिधि के निधन के बाद केंद्र सरकार ने बुधवार को राष्ट्रीय शोक घोषित किया है। वहीं, राज्य सरकार ने बुधवार को सार्वजनिक अवकाश और 7 दिवसीय शोक की घोषणा की है। गौरतलब है कि करुणानिधि के अंतिम दर्शन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण बुधवार सुबह चेन्नई पहुंचे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here