रेप की घटनाओं को लेकर ट्वीट करने वाले 2010 बैच के यूपीएससी द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा के टॉपर शाह फैसल के खिलाफ जम्मू-कश्मीर सरकार ने अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू की है। गौरतलब है कि फैसल ने ट्वीट किया था, “जनसंख्या + पितृसत्ता + निरक्षरता + शराब + पॉर्न + तकनीक + अराजकता = रेपिस्तान।” यही नहीं, ट्वीट के बाद कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग ने फैसल को नोटिस भेजा था जिसे साझा करते हुए उन्होंने नोटिस को ‘बॉस से मिला प्रेम पत्र’ बताया था। आपको बता दें कि 35 साल के फैसल राज्य पर्यटन विभाग में अतिरिक्त सचिव हैं और वे फिलहाल मास्टर डिग्री के लिए अमेरिका में हैं।

नोटिस पर शाह फैसल ने कहा था कि दक्षिण एशिया में बलात्कार के चलन के खिलाफ मेरे व्यंग्यात्मक ट्वीट के एवज में उन्हें बॉस से प्रेम पत्र (नोटिस) मिला है। फैसल को भेजे गए एक नोटिस में सामान्य प्रशासन विभाग ने कहा है, “आप कथित रूप से आधिकारिक कर्तव्य निभाने के दौरान पूर्ण ईमानदारी और सत्यनिष्ठा का पालन करने में असफल रहे हैं जो एक लोक सेवक के लिए उचित व्यवहार नहीं है।”

नोटिस मिलने के बाद फैसल ने क्या कहा?

नोटिस मिलने के बाद फैसल ने कहा है ‘मेरी नौकरी खोना इस बहस की तुलना में एक छोटा सा जोखिम है जिसे मैं करने की कोशिश कर रहा हूं। हां, मैं अपनी नौकरी खो सकता हूं, लेकिन फिर दुनिया संभावनाओं से भरी है।” उन्होंने कहा, “सरकारी अधिकारी की एक छवि है। ‘वो गुमनाम है, उसे बहस नहीं करना है, उसके चारों ओर जो कुछ भी हो रहा है वो उसे देख कर अपनी आंखें बंद कर ले लेकिन इसे अब बदलने की जरूरत है।”

फैसल ने कहा कि उनका उद्देश्य सरकारी अधिकारियों की अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की कमी को उजागर करना था। उन्होंने कहा, “सरकारी कर्मचारी समाज का एक बड़ा वर्ग हैं, लेकिन हम आमतौर पर उनके बारे में बात नहीं करते। सामान्य तौर पर सरकार और कर्मचारियों के बीच एक कॉन्ट्रैक्ट है, और कर्मचारी को सिर्फ लेख का पालन करना है। मैं इस ट्वीट के माध्यम से बहस करने का प्रयास कर रहा हूं कि कर्मचारी भी इस समाज के सदस्य हैं। वह बड़े नैतिक मुद्दों से अलग नहीं रह सकते। मेरा मानना है कि, मैंने उचित सावधानी के साथ अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के अधिकार उपयोग किया है। उदाहरण के लिए, मानदंडों को ध्यान में रखते हुए मैंने कभी भी सरकारी नीति की आलोचना नहीं की है।”

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here