जरूर पढ़ें: IAS टॉपर टीना डाबी ने बताया, इंटरव्‍यू में किन बातों का रखें ध्यान जिससे मिलेगी सफलता…

1
5905

संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) द्वारा सिविल सर्विसेज मेन्स एग्जाम में सफल उम्मीदवारों के पर्सनैलिटी टेस्ट/इंटरव्यू लिए जा रहे हैं। इससे पहले मुख्य परीक्षा का रिजल्ट 21 फरवरी, 2017 को घोषित किया गया था जिसमें 2900 से अधिक अभ्यर्थी सफल घोषित किए गए थेे। आपको बता दें कि इंटरव्यू एक सुनहरा मौका होता हैं जहां आप अधिक से अधिक अंक प्राप्त कर रैंकिंग सुधार कर सकते हैं। इंटरव्‍यू की तैयारी के लिए काफी कम समय मिलता है और यह लिखित परीक्षा से बिल्‍कुल अलग होता है। इसमें सिर्फ जानकारी ही नहीं, बल्‍क‍ि पूरी पर्सनैलिटी टेस्‍ट होता है। यह जानना बेहद अहम है कि इंटरव्यू की तैयारी कैसे करें। ऐसे में यूपीएससी टॉपर टीना डाबी ने छात्रों के लिए कुछ टिप्स दिए हैं जिससे उन्हें काफी सहायता मिल सकती है। जानें क्या कहा टीना डाबी ने-

  • इंटरव्यू की तैयारी ऐसी होनी चाहिए, जिससे आत्‍मविश्‍वास बढ़े और बॉडी लैंग्‍वेज ठीक हो। इससे काफी अच्छा प्रभाव पड़ता है। आकर्षक व्यक्तित्व तथा सौम्य व्यवहार साक्षात्कार में सफलता की कुंजी माने जाते हैं। इंटरव्यू में घबराहट से बचें और संयम से काम लें। इसके अलावा अपने नाम का अर्थ ज़रूर जान लें और उस नाम से जुड़ें हस्तियों के बारे में भी जानकारी रखें। अपनी जन्म तिथि के दिन की महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में भी पूरी तैयारी कर लें।
  • करेंट अफेयर्स और हाल-फिलहाल की घटनाओं की पूरी जानकारी हो। इंटरव्यू में अक्सर करेंट अफेयर्स ही पूछे जाते हैं और करेंट अफेयर्स से ही आपके विषय को भी जोड़ दिया जाता है। साक्षात्कार के समय केवल विषयगत ज्ञान की जानकारी नहीं ली जाती। इंटरव्यू के लिए अपने विषय को भी अच्छे से तैयार कर लें। इसके अलावा एजुकेशनल प्रोफाइल के बारे में भी पूरी तैयारी रखें।
  • अपने प्रदेश, उसके राजनीतिक, सामाजिक, भौगोलिक स्थिति की जानकारी ज्यादा से ज्यादा होनी चाहिए। इसके लिए जरूरी है कि आप जहां रह रहे हों और जहां के आप स्थायी निवासी हों, दोनों को बारे में जानकारी होनी चाहिए।
  • आप अपने सीवी को अच्छी तरह तैयार कर लें। इंटरव्यू का बड़ा हिस्सा सीवी पर ही आधारित होता है। सीवी में अगर आपने कोई हॉबी बताई है तो उस बारे में आपको अच्‍छी जानकारी होनी चाहिए। आपकी रूचि और आपकी उपलब्धियों पर भी काफी प्रश्न पूछे जाते हैं, इसलिए इन हिस्सों को पूरी तरह तैयार कर लें।
  • अगर आप कोई नौकरी कर रहे हैं या इससे पहले कोई नौकरी की है तो उसकी तैयारी भी करके जाएंं।  साथ ही, आपने सिवेल सर्विस के लिए जिस वरीयता क्रम का चयन किया है उसे बारे में भी तर्क आपके पास होना चाहिए।
  • इसके अलावा अपने पास हमेश एक इंटरव्यू पॉकेट डायरी रखें जिसमें महत्वपूर्म बातें लिखी हो और आप समय समय पर इसे देख सकें।

प्रश्नों के उत्तर देते समय इन बातों का रखें खास ध्यान-  

 

  • प्रश्नों का उत्तर देते समय हमेशा ध्यान रखें कि उत्तर हमेशा सटीक और संक्षिप्त होना चाहिए। सबसे पहले उन तथ्यों को प्रस्तुत करें जो सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण हो। सभी प्रश्नों को ध्यान से सुनें और अगर इसके बाद भी प्रश्न समझ में न आए तो विनम्रतापूर्वक प्रश्न दोहराने के लिए कहें।
  • किसी भी प्रश्न का उत्तर देने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि प्रश्न खत्म हो चुका है। प्रश्न पूछते समय बीच में हस्तक्षेप न करें और थोड़ा समय लेकर जवाब दें।
  • जिन विषयों या चीजों की जानकारी न हो, उस पर बहस करने की बजाय यह कह दें कि माफ कीजिएगा, मुझे इस टॉपिक के बारे में जानकारी नहीं है। आप  उसी क्षेत्र के बारे में बताएं, जिस पर आपका नियंत्रण हो और जिसके बारे में आप विस्‍तार से जानते हों। बहुत ज्‍यादा आइडियलिस्‍ट‍िक न बनें और किसी विषय पर राय मांगी जाए तो उस पर अपनी व्‍यवहारिक राय दें, न कि आइडियल बनने की कोशिश करें। आमतौर पर सिविल सेवा परीक्षा का साक्षात्कार विश्वविद्यालयीन प्रायोगिक परीक्षाओं की मौखिक परीक्षाओं (वाइवा) जैसा नहीं होता है और न ही अन्य नौकरियों के लिए लिए जाने वाले साक्षात्कार की तरह।

 जानें क्या कहा दिल्ली स्थित निर्माण IAS के संस्थापक कमलदेव (K.D) सिंह ने- 

  • इंटरव्यू के लिए रोजाना अखबार खूब अच्छी तरह पढ़ें और इंटरव्यू की तैयारी में ग्रुप डिस्कशन सबसे ज्यादा मददगार साबित होती है। दरअसल, इससे टॉपिक्स ज्यादा दिनों तक याद रहते हैं, जिन पर किसी बात करते हैं।
  • इंटरव्यू में लंबा-चौड़ा बोलने से परहेज करें और और सेलेक्टिव चीजें ही बोलें। इसके लिए आप अभी से तैयारी कर लें किं आपको अपने बारे में क्या बताना है और क्या नहीं। हालांकि इस दौरान कभी भी अपने इच्छा को न छिपाएं। एक सवाल जो हमेशा आपसे पूछा जा सकता है, वो यह है कि आप इस प्रोफेशन में क्यों आना चाहते हैं? इन सवालों के जवाब के बारे में हमेशा तैयारी करके जाएं। क्योंकि इन मामलों में सामने वाले को अपनी बातों से घुमाने का प्रयास आपके लिए महंगा साबित हो सकता है, इसलिए हमेशा सीधी बात कहें।
  • साक्षात्कार के दौरान उत्तर देते समय आत्मविश्वास तथा निश्चित दृष्टिकोण सर्वाधिक महत्वपूर्ण होता है। यदि प्रश्न का विश्लेषण कर तर्कपूर्ण जवाब दिए जाएँ तो साक्षात्कार लेने वाला निश्चित ही प्रभावित होता है। साक्षात्कार में बड़बोलेपन की बजाय मितभाषी प्रत्याशी के चयन की संभावना ज्यादा होती है, क्योंकि वह साक्षात्कार हेतु निर्धारित 15-20 मिनट में साक्षात्कार लेने वालों के ज्यादा से ज्यादा प्रश्नों के जवाब देकर संतुष्ट कर सकता है।
  • उनका उद्देश्य प्रत्याशियों की प्रतिक्रया, व्यवहार, आत्वविश्वास, दृढ़ निश्चयता, सकारात्मकता, नकारात्मकता, अभिरुचि, निर्णय लेने की क्षमता, उसकी पृष्ठभूमि आदि का आकलन होता है। वे टालमटोल कर भ्रामक जवाब के बजाय ईमानदारीपूर्वक प्रत्याशियों द्वारा प्रश्न के उत्तर न जानने के जवाब को ज्यादा तरजीह देते हैं, क्योंकि उन्हें भी पता होता है कि कोई भी व्यक्ति सर्वज्ञाता नहीं होता है।
  • अपनी जिंदगी और प्रोफेशन को लेकर लक्ष्य को लेकर आप असमंजस की स्थिति में न रहें, सारी बातें गंभीरता के साथ कहें।
  • कभी भी चेहरे पर कोई भी बनावटी भाव लाने की कोशिश न करें, इंटरव्यू में आपका बॉडी लैंग्वेज भी जज किया जाता है. इंटरव्यू खत्म होते वक्त भी स्माइल के साथ जाएं। बुद्धिमत्ता, व्यवहार के अलावा प्रत्याशी के हावभाव, वेशभूषा तथा प्रतिक्रिया का भी साक्षात्कार में आकलन किया जाता है।
(अभ्यर्थियों के प्राप्तांक तथा कटऑफ अंतिम परिणाम घोषित होने के बाद 15 दिन के भीतर आयोग की वेबसाइट पर अपलोड किए जाएंगे। यह आयोग की वेबसाइट पर 60 दिन तक रहेगा।)
(अगर आप कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमें मेल कर सकते हैं या फेसबुक पेज पर संपर्क कर सकते हैं)

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here