अमेरिका के बाद यूके ने भी 6 देशों की फ्लाइट में लगाया लैपटॉप-टैबलेट पर प्रतिबंध, जानें- देशों के नाम

0
366

युनाइटेड किंगडम ने 6 पश्चिम एशियाई और उत्तरी अफ्रीकी देशों से आने वाली फ्लाइट्स के कैबिन में मोबाइल से बड़े लैपटॉप और टैबलेट जैसे डिवाइस लाने पर प्रतिबंध लगा दिया है। यह प्रतिबंध तुर्की, लेबनान, जॉर्डन, मिस्र, ट्यूनीशिया और सऊदी अरब के लिए है। ब्रिटेन की ओर से यह कदम अमेरिकी सरकार की ओर से उस चेतावनी के बाद उठाया गया है जिसमें कहा गया था कि आतंकी इलेक्‍ट्रॉनिक डिवाइसेज में छिपाए गए बम से पैसेंजर जेट को निशाना बना सकते हैं। इस चेतावनी के साथ ही अमेरिका ने आठ देशों के 10 एयरपोर्ट से अमेरिका की ओर आने वाली फ्लाइट्स में इन्‍हें बैन कर दिया।

डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन ने 8 पश्चिम एशियाई और उत्तर अफ्रीकी मुस्लिम बहुल देशों से अमेरिका आने वाले कुछ विमानों के मेन कैबिन में लैपटॉप, टैबलेट्स समेत इलेक्ट्रॉनिक सामान लाने पर प्रतिबंध लगा दिया है।यह प्रतिबंध केवल उन विमानों से सफर कर रहे यात्रियों पर लागू होगा, जो कि सीधे इन देशों से उड़ने वाले विमानों से अमेरिका आ रहे हैं। बतौर रिपोर्ट्स, इससे सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात, जॉर्डन, कतर जैसे देशों की विमान सेवाएं प्रभावित होंगी। हालांकि, अमेरिकी विमानों पर नए नियम लागू नहीं होंगे। न्यूयॉर्क, शिकागो, डेट्रोइट और मोनट्रियल के हवाई अड्डों पर यात्रियों के इलेक्ट्रॉनिक उपकरण लाने पर बैन लगा दिया गया है। अधिकारियों के मुताबिक कई सप्ताह पहले आतंकी हमले की धमकी मिलने के बाद से अमेरिकी सरकार इस पर विचार कर रही थी। मंगलवार को डिपार्टमेंट ऑफ होमलैंड सिक्यूरिटी की ओर से इस नए प्रतिबंध वाले कानून की घोषणा की गई।

ब्रिटेन और अमेरिका के बैन में अंतर ब्रिटेन का बैन सिर्फ छह देशों के लिए ही है जिसमें से दो देश लेबनान और ट्यूनीशिया अमेरिकी लिस्‍ट में नहीं हैं। अमेरिका की लिस्ट में कुवैत, मोरक्‍को, कतर और यूनाइटेड अरब एमीरेट्स हैं जो ब्रिटेन की लिस्‍ट में नहीं हैं। सरकार के प्रवक्‍ता की ओर से बताया गया है कि सरकार अमेरिका के साथ इस पूरी स्थिति को समझने के लिए बराबर संपर्क में है। सरकार की ओर से कहा गया है कि एविएशन सिक्‍योरिटी से जुड़े उपायों को उनकी सरकार कभी भी हल्‍के में नहीं लेगी। ब्रिटेन की सरकार की ओर से जो फैसला लिया गया है उसका असर छह ब्रिटिश एयरलाइंस पर पड़ेगा जिनमें ब्रिटिश एयरवेज और ईजीजेट के अलावा आठ विदेश एयरलाइन हैं जिनें टर्की की एयरलाइन भी श‍ामिल है। अम‍ेरिकी अधिकारियों की ओर से इस तरह के बैन पर जानकारी दी है कि आठ देशों से आने वाली नौ एयरलाइन कंपनियों को 96 घंटों का समय दिया गया है ता‍कि वे केबिन में मोबाइल फोन के अलावा बाकी सभी बड़ी इलेक्‍ट्रॉनिक डिवाइसेज को बैन कर सकें। ब्रिटेन के बैन में उन फोन को भी बैन किया गया है जो 16 सेंटीमीटर लंबे, 9.3 सेंटीमीटर चौड़े और 1.5 सेंटीमीटर गहरे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here