UPSC: प्री के परिणाम के बाद मुख्य परीक्षा के लिए ऐसे बनाएं रणनीति, इन बातों का रखें ध्यान…

0
361

संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने सिविल सेवा परीक्षा 2018 के लिए प्रारंभिक परीक्षा के नतीजे घोषित कर दिए हैं और  मुख्य परीक्षा 28 सितंबर से आयोजित की जाएगी। यह परीक्षा इसलिए भी चुनौतिपूर्ण हो जाती है क्योंकि नतीजे घोषित होने के महज 3 माह के अंदर ही मुख्य परीक्षा होती है। ऐसे में इस थोड़े से समय में कैसे मुख्य परीक्षा की तैयारी की जा सकती है, जानते हैं अपने एक्सपर्ट् से…

नॉलेज फर्स्ट संस्थान के निदेशक पुष्कर मिश्रा ने कहा कि इस परीक्षा में पांच बिन्दुओं पर फोकस कर परीक्षार्थी अच्छे नंबर ला सकते हैं। इनमें पहला अवधारण यानी काॅन्सेप्ट, दूसरा क्रमबद्धता, तीसरा रिलेवेंसी, चौथा ग्राफिकल प्रजेंटेशन और पांचवां शुरूआत व निष्कर्ष है। इसलिए बहुत जरूरी है कि आपकी तैयारी में आप सही दिशा में 100 प्रतिशत मेहनत करें और एक्जाम दें ताकि आप अच्छे मार्क्स स्कोर कर सकें। इसके लिए ध्यान रखें कि रोज लिखने की प्रैक्टिस करनी चाहिए, ताकि परीक्षा में आप टाइम मैनेजमेंट के हिसाब से लिख पाएं और इस दौरान छोटी-छोटी गलतियों का ध्यान रखें।

मिश्रा ने कहा कि परीक्षा के लिए हमेशा कोचिंग नोट्स पर निर्भर न रहें और न ही मोटी-मोटी व भारी-भरकम किताबों का इस्तेमाल करें क्योंकि परीक्षा आपके लिए महत्वपूर्ण है। उत्तर लिखते समय बेसिक कॉन्सेप्ट के साथ अपने विचारों को लिखें। एनसीईआरटी की किताबें अच्छी हैं लेकिन सिर्फ उन्हें पढ़ना मुख्य परीक्षा के लिए पर्याप्त नहीं है। इसलिए सिर्फ एनसीईआरटी की किताबों के साथ साथ कुछ और किताबों को पढ़ें ताकि विषयों की बेहतर समझ विकसित हो सके।

उन्होंने कहा कि छात्र सबसे पहले मुख्य परीक्षा के विगत वर्षों के प्रश्न पत्रों को जरूर देख लें ताकि पता चले कि पेपर का स्तर क्या है? क्या पढ़ना है? क्या नहीं पढ़ना है? कैसे पढ़ना है यह सभी पेपर देखकर समझ सकते हैं। यह भी जरूरी है कि सिलेबस की एक-एक लाइन को गंभीरता से पढ़ना चाहिए। क्योंकि कुछ किताब में हैं, कुछ नए टॉपिक्स होते हैं जो किताबों में नहीं मिलते।सिलेबस का प्रत्येक टॉपिक महत्वपूर्ण होता है इसलिए किसी को नजरअंदाज न करें। जो किताबों में नहीं है उसके लिए इंटरनेट का सहारा ले सकते हैं। पेपर के आधार पर ही पढ़ने का एप्रोच रखिए। सीधे किताब को उठाकर पढ़ने के बजाय सिलेबस में विषय से संबंधित जो टॉपिक है उसके आधार पर पढ़ने से आप वही पढ़ेंगे जो परीक्षा में पूछा जाएगा। इसके आधार पर संभावित प्रश्नों की सूची तैयार करनी चाहिए और हर सवाल का जवाब ढूंढ़ने की कोशिश कीजिए।

मिश्रा ने यह भी बताया कि इस बात का हमेशा ध्यान रखें कि मुख्य परीक्षा में बहुत ज्यादा लिखना होता है। हर पेपर में 45-50 पेज लिखना होगा लगभग 4500 शब्द। इसमें 90 फीसदी प्रतियोगी समय की कमी के कारण पूरा पेपर नहीं लिख पाते हैं। नियमित लिखने की प्रेक्टिस करनी चाहिए। अंग्रेजी भाषा में लिखने वालों की तुलना में हिंदी भाषा में लिखने वालों की रफ्तार कम होती है। 4500 शब्द नियमित लिखने की प्रेक्टिस कीजिए तभी परीक्षा में लिख पाएंगे। इसके लिए ध्यान रखें कि प्रश्न सामने आने के बाद सोचने में अपना समय खराब न करें। आप प्रश्न देखने के बाद थोड़ा समय लें लेकिन अधिक वक्त लेने से कन्फ्यूजन भी होगा। इसके अभ्यास के लिए टेस्ट सीरीज ज्वाइन कर सकते हैं। लेकिन पेपर को चेक करवाकर फीडबैक जरूर लें।

इन  विषयों का रखें खास ध्यान;

1. इतिहास, भूगोल, आपदा प्रबंधन : ये नई चीजें नहीं हैं आपदा प्रबंधन से जुड़ी प्रमुख दुर्घटनाओं का जिक्र किया गया है। इसमें विश्व का और भारत का भूगोल, केस स्टडी को अच्छे से पढ़ना ही चाहिए। विश्व और भारत का इतिहास भी तैयार रखें। तथ्यों में गलती न करें। अगर कोई तथ्य याद नहीं है तो उसे गलत लिखने के बजाए छोड़ दें। मानचित्र का गहन अध्यय्न करना न भूलें।

2. शासन व्यवस्था, सामाजिक समस्याएं अंतर्राष्ट्रीय संबंध: सोशल सेक्टर भारत में एनजीओ, कॉर्पोरेटिव मूवमेंट, शिक्षा व्यवस्था शामिल है। संविधान के अलावा नेशनल पोर्टल ऑफ इंडिया के साथ ही भारत सरकार की संबंधित विभागों की वेबसाइट पर भी जानकारी मिल सकती है। अधिनियम से जुड़े सवालों के लिए वेयर एक्ट पढ़ लेना अच्छा है। किसी भी सवाल को छोड़ना नुकसानदेह हो सकता है।

3. विज्ञान प्रौद्योगिकी, अर्थव्यवस्था, पर्यावरण: विज्ञान के लिए आप लुसेंट से मदद ले सकते हैं। अर्थव्यवस्था के लिए करेंट अफेयर्स, बैंकिंग और बजट और आर्थिक सर्वेक्षण का ध्यान रखें।

4. अभिरुचि प्रशासनिक एवं अभियोग्यता जैसे : प्रशासनिक शब्दावली, जवाबदेही, जिम्मेदारी, ईमानदारी, केस स्टडी, प्रमुख विचारकों के सवाल यह पेपर ज्यादा कठिन लगता है इसमें ज्यादातर प्रमुख विचारकों के बारे में कई किताबें मौजूद हैं।स पारदर्शिता, ईमानदारी पर कोई सिलेबस के अनुसार खुद ही सोचकर अभी से नोट्स बना लीजिए। क्लास में पेपर के समय सोचने का समय नहीं होगा। लोक प्रशासन की एमए की यूनिवर्सिटी की किताब में दिए सिलेबस में सारे सवालों के जवाब मिल जाएंगे।

5. निबंध : यह पूरा पेपर हिंदी में ही लिखना होता है। इसमें हिंदी आसान नहीं होती है। दो निबंध लिखने होते हैं। सामान्यतः 12वीं की परीक्षा के स्तर के होते हैं।

निबंध की तैयारी के लिए : निबंध में कंटेन्ट में तथ्य फैक्ट से ज्यादा विचारों का संपूर्ण होना जरूरी है। आलेख में सभी पहलू समाहित हो जाएं। जैसे भारत में औद्योगिक विकास न होने के कारण विषय पर लिखते समय संपूर्ण विचार व्यवस्थित करना होगा।

बेहतर करना जरूरी : ये यूनिवर्सिटी की परीक्षा नहीं है कि बच्चे सिर्फ सिलेबस पूरा करके एग्जाम दे देते हैं। इसलिए दूसरे से बेहतर और प्रभावी लिखना जरूरी है।

अच्छा लिखें : सवालों के जवाब सूचनायुक्त होने चाहिए। तीन तरह की लीड हो सकती है इन्फॉर्मेशन सूचनाओं का समावेश होना चाहिए प्रभावी प्रस्तुतिकरण होना चाहिए। इफेक्टिव टूल कंटेन्ट जैसे ग्राफिक्स, टेबल आदि का प्रयोग करना चाहिए।

प्रभावी लीड : इंप्रेशन लीड आपकी पहली लाइन में आपका पूरा उत्तर देना चाहिए। पहले वाक्य में पता चल ही जाता है कि आपको जानकारी है या नहीं शुरुआती एक या दो लाइन में ही एग्जामिनर को समझ में आ जाता है कि उसे आगे पढ़ना है या नहीं।

हैंड राइटिंग : हैंड राइटिंग खराब या अच्छी नहीं होती। इसलिए यदि आपकी हैंड राइटिंग आपको लगता है अच्छी नहीं है तो बार-बार लिखने की प्रेक्टिस करें। इससे सही अक्षरों की बनावट आएगी और वह स्पष्ट दिखाई देने लगेंगे।

ध्यान रखिए : लिखने में वर्तनी संबंधी अशुद्धियां नहीं कीजिए। मात्राओं में गलत अक्षर लिखने, गलत मात्रा लगाने से गलत प्रभाव पड़ता है और औसत नंबर ही मिलते हैं। जो लोग 2014 में पेपर दे चुके हैं वह भी नए ढंग से अपने जवाब लिखने की प्रेक्टिस कीजिए।

इन बातों को ध्यान में रखकर पूरी लगन और आत्मविश्वास के साथ परीक्षा दीजिए। शुभकामनाएं

(यदि अभी भी आपके मन में कोई विचार या सवाल उठ रहा है तो कमेंट बॉक्स के माध्यम से जरूर पूछें। आपके द्वारा दी गई प्रतिक्रिया का हमें इंतजार है। इस तरह की यदि आप और भी जानकरियां प्राप्त करना चाहते है तो knowledgrfirsteducational.com से प्राप्त कर सकते है। इस पोर्टल पर करियर से संबंधित अन्य भी जानकारियां भी उपलब्ध कराई जाती है।)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here