जनमत संग्रह में जीते तुर्की के राष्ट्रपति, संसदीय प्रणाली और पीएम पद होगा खत्म, जानें- क्या होगा असर….

0
330

तुर्की में संसदीय शासन प्रणाली और राष्ट्रपति शासन प्रणाली को लेकर हुए जनमत संग्रह के नतीजों का ऐलान कर दिया गया है। तुर्की के जनमत संग्रह में 51.37% जनता ने संसदीय प्रणाली को ठुकराते हुए राष्ट्रपति शासन प्रणाली के पक्ष में वोट किया। गौरतलब है कि इसके लिए देश भर में एक लाख 67 हज़ार पोलिंग बूथों पर लगभग साढ़े 5 करोड़ लोगों ने अपने मताधिकार का उपयोग किया और कथित तौर पर 85 प्रतिशत मतदान हुआ। अब देश में प्रधानमंत्री का पद खत्म हो जाएगा और रेचप तैयप एर्दोआन 2029 तक राष्ट्रपति बने रह सकेंगे। इसके अलावा, उन्हें कैबिनेट मंत्रियों की नियुक्ति, नए फरमानों, जजों की नियुक्ति और संसद भंग करने का एकाधिकार होगा।

इसका क्या होगा असर?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here